बचपन ft. बाबा

Photo by Maria Lindsey Multimedia Creator from Pexels

मेरा बचपन
एक कहानी ही तो है
तस्वीरों में सबूत मिलते हैं
और किस्सों में यादें
बताया जाता है कि
बाबा अक्सर मुझे
अपने कंधों पर चढ़ाकर
आंगन के चक्कर लगाते थे
तस्वीर में देखा था तो
बाबा के बाल घने व काले
पोशाक वही कुर्ता पजामा
और ऐसी विस्फोटक हँसी
कि बत्तीसी की झलक दिख जाए

मैंने एक रानी रंग की स्वेटर ड्रैस
पहनी है जो निश्चिंत ही मेरी बड़ी
बहन के लिए बुनी गयी थी और
अब मुझे सौंप दी गई थी
घुंघराली लटें और गाल ऐसे कि
गुलाबजामुन दबा कर रखे हों

बताया जाता है कि उस तस्वीर
के खिंचने के दो मिनट बाद ही
बाबा को सिर पर तेज़ धारा का
अनुभव हुआ उत्सुकतावश ऊपर
देखा तो मैं खिलखिला रही थी

मेरा बचपन
एक कहानी ही तो है
तस्वीरों में सबूत मिलते हैं
और किस्सों में यादें
इस वाकये की तस्वीर नहीं है
तो मैं इसे नकार सकती हूँ
बाबा बड़े चाव से मुझे इस
यादों के सफ़र में ले जाते हैं
और मैं देखती हूँ वही चेहरा
कुछ काले बहुत सफ़ेद घने बाल
पोशाक वही कुर्ता पजामा
और ऐसी विस्फोटक हँसी कि
बत्तीस से कुछ कम दांतों की
झलक दिख ही जाती है

मैं जिसे सबूत कहती हूँ
उसे बाबा तस्वीर कहते हैं

मैं जिसे यादें कहती हूँ
उसे बाबा किस्से कहते हैं

और मैं जिसे कहानी कहती हूँ
उसे बाबा मेरा बचपन कहते हैं।

© अपूर्वा बोरा​

Leave a Reply