इश्क़ क्या है ?​

Ishq kya hai

लैला मजनूं की जुर्रत सा,
या मीरा की इबादत सा होगा।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।

पीर की मजार पर चढ़ी वो चादर सा होगा,
या फिर दूर तलक फैले किसी सागर सा होगा ।

मुझे लगता था की इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा |

शायद वो सिनेमा का एक दिलचस्प अफ़साना होगा,
या संगीत का मेरी ही तरह दीवाना होगा।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा |

शायद वो मेरी अधूरी जवानी सा होगा,
या किसी अदाकार के किरदार की रवानी सा होगा।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा |

मगर, मालूम न था कि,
हमने जो सोचा था, वो हकीकत से जुदा होगा,
आखिर में होगा वही जो मंज़ूर-ए-खुदा होगा।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।

मगर, मालूम न था कि इश्क़ की दुनिया अलग है,
कभी किताबों सा राहत देता, तो कभी दर्द के आगोश में लेता यह एहसास अलग है।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।

मगर, मालूम न था कि इश्क़ का रंग अलग है,
कभी जुनूनीयत में लाल, तो कभी सुकून में सफ़ेद चादर ओढ़े यह अंदाज़ अलग है।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।

मगर, मालूम न था कि इश्क़ की राह अलग है,
कभी बॉलीवुड के क्लीशेड प्रेम सा, तो कभी मौलिकता के प्रसंग का यह सफ़र अलग है।

मुझे लगता था कि इश्क़ रूहानी सा होगा,
मेरे ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।

मगर, मालूम न था कि इश्क़ की परिभाषा अलग है,
कभी ख्यालों सा आज़ाद, तो कभी कविताओं में कैद इसका रुतबा अलग है।

न रूहानी सा, न ही ख़्वाबों की वो वाली कहानी सा होगा।
किसे इल्म था कि इश्क़ को इन परिभाषाओ में बांध पाना नाकाफी होगा?

 

आखिर, किया क्या?

मैं इश्क़ की मंज़िल तलाश रही
वो इश्क़ का सफ़र ढूंढ रहा,
मैं इश्क़ की गलियाँ नाप चुकी,
वो सारे मंजर तलाश चुका |

आखिर, सीखा क्या?

यही कि इश्क़ नहीं है कुछ ऐसा,
जिसको तुम यूँ शब्दों में बांध सको,
इश्क़ नहीं है वो किरदार,
जिसको तुम यूँ पहचान सको |

आखिर, इश्क़ है क्या?

यही कि इश्क़, इश्क़ है,
इसे इश्क़ ही रहने दिया जाए,
क्योंकि कुछ चीज़े ज्यों की त्यों ही अच्छी लगती है।

Leave a Reply

Close Menu