कुछ इस कदर

Photo by Hisu lee on Unsplash

कुछ इज़ाज़त ली
और कुछ इबादत की
मेरे महबूब से मैंने
कुछ इस कदर मोहब्बत की

कुछ इंतज़ार किया
और कुछ इकरार किया
मेरे महबूब से मैंने
कुछ इस कदर प्यार किया

कुछ जगह दिल में रखी
और कुछ ज़िंदगी में दी
मेरे महबूब से मैंने
कुछ इस कदर चाहत की

कुछ हाल ए दिल बयां किया
और कुछ भीतर छिपा लिया
मेरे महबूब से मैंने
कुछ इस कदर इश्क़ किया

कुछ शायरियां फ़रमाईं
और कुछ ग़ज़लें सुनाईं
मेरे महबूब से मैंने
कुछ इस कदर प्रीत निभाई

 © अपूर्वा बोरा

Leave a Reply

Close Menu