मिसाल

मैं डर से रुबरु हो रही थी
और वे मेरी हिम्मत की मिसाल दे रहे थे

आसान होता है न,
दूसरों में अपनी हिम्मत ढूंढना ?

मेरी दोस्ती मुश्किलों के दौर से गुज़र रही थी
कुछ वादे उन्होंने तोड़ दिए
कुछ उम्मीद के धागे मैंने छोड़ दिए
यहाँ मैं अकेली पड़ रही थी
और वहाँ वे मेरी ताक़त की मिसाल दे रहे थे

मैं डर से रुबरु हो रही थी
और वे मेरी हिम्मत की मिसाल दे रहे थे

आसान होता है न,
दूसरों में अपनी हिम्मत ढूंढना ?

मेरा शरीर मुश्किलों के दौर से गुज़र रहा था
कुछ कटाक्ष समाज ने दिए
कुछ दोषी आईने के सामने हम हुए
यहाँ मैं खाना छोड़ रही थी
और वहाँ वे मेरे बदलाव की मिसाल दे रहे थे

मैं डर से रुबरु हो रही थी
और वे मेरी हिम्मत की मिसाल दे रहे थे

आसान होता है न,
दूसरों में अपनी हिम्मत ढूंढना ?

मेरा मन मुश्किलों के दौर से गुज़र रहा था
कुछ संदेह के बीज तुमने डाल दिए
कुछ सवाल मैंने पूछ लिए
यहाँ मैं जवाब खोज रही थी
और वहाँ वे मेरी सोच की मिसाल दे रहे थे

मैं डर से रुबरु हो रही थी
और वे मेरी हिम्मत की मिसाल दे रहे थे

आसान होता है न,
दूसरों में अपनी हिम्मत ढूंढना ?

मेरी पहचान मुश्किलों के दौर से गुज़र रही थी
कुछ कर्म लोगों ने ऐसे किए
कुछ खफ़ा हम भी हो गए
यहाँ मैं अपनी आवाज़ उठा रही थी
और वहाँ वे मेरी कलम की मिसाल दे रहे थे

मैं डर से रुबरु हो रही थी
और वे मेरी हिम्मत की मिसाल दे रहे थे

आसान होता है न,
दूसरों में अपनी हिम्मत ढूंढना ?

मैं दिल्ली में पढ़ रही थी
कुछ खबरें ऐसी छप गयीं
कुछ हादसे ऐसे घट गए
यहाँ मेरा परिवार मेरे लिए डर रहा था
और वहाँ मैं उनकी हिम्मत की मिसाल दे रही थी

वे डर से रुबरु हो रहे थे
और मैं उनकी हिम्मत की मिसाल दे रही थी

आसान तो नहीं
शायद ज़रूरी होता है
किसी में अपनी हिम्मत ढूंढना।

 © अपूर्वा बोरा

Leave a Reply