पहली बार

Photo by Hoang Loc from Pexels

तुम्हारा मेरी ओर देखना
और मेरा हाथ थामने से पहले
अपना हाथ आगे बढ़ाना
ऐसा नहीं कि इन्हें किसी
और ने थामा ही न हो
मग़र जहां प्यार नहीं
अधिकार जताया गया हो
उनके लिये तुम्हारा यूँ
सकुचा कर हाथ बढ़ाना
ये तो पहली बार है

तुम्हारा मेरे क़रीब बैठना
और मेरे होंठ चूमने से पहले
मेरी इज़ाज़त मांगना
ऐसा नहीं कि इन्हें किसी
और ने छुआ ही न हो
मग़र जिन चुम्बन में जुनून
की जगह आवेश ने ली हो
उनके लिये तुम्हारा यूँ
ठहर कर इज़ाज़त मांगना
ये तो पहली बार है

तुम्हारा मेरी बाहों में लेटना
और मुझे अनावृत्त करने से पहले
प्रेम से पुचकारना
ऐसा नहीं कि इसे किसी
और ने देखा ही न हो
मग़र जिसे चाहत की जगह
उत्तेजना से टटोला गया हो
उसके लिए तुम्हारा यूँ
सब्र कर पुचकारना
ये तो पहली बार है

तुम्हारा मेरा एक होना
और मेरे जिस्म से पहले
मेरी रूह को छू जाना
ऐसा नहीं कि इसे किसी
और ने भेदा ही न हो
मग़र जिसे बलपूर्वक
अपना बनाया गया हो
उसके लिए तुम्हारा यूँ
मोहब्बत से छू जाना
ये तो पहली बार है

माना ये न थी मेरी पहली मोहब्बत
मग़र तुम्हारा यूँ मेरी गोद में
सिर रख बेफ़िक्र सो जाना
ये तो पहली बार है

माना ये न थी मेरी पहली मोहब्बत
मग़र तुम्हारा यूँ पिछले
ज़ख़्मों को मिटा जाना
ये तो पहली बार है

माना ये न थी मेरी पहली मोहब्बत
मग़र तुम्हारा यूँ आना और
आ कर फ़िर ठहर जाना
ये तो पहली बार है

माना ये न थी मेरी पहली मोहब्बत
मग़र मोहब्बत का प्रसंग छिड़ते ही
अब तुम्हारा ही ख़याल सताना
ये तो पहली बार है

तुम, ये तो पहली बार है
हम, ये भी तो पहली बार है

© अपूर्वा बोरा​

Leave a Reply