शून्य

Photo by Jake Hills on Unsplash

आज मैं शून्य हूँ

यूँ तो गिनती के वक़्त शुरुआत मुझसे ही होती है,लेकिन आज जिस संदर्भ में बात हो रही है,मैं गणित में शून्य के मान के बराबर हूँ। मेरे होने या ना होने का अभी किसी को होश नहीं है। यह गुमनामी बस कुछ महीनों की बात है। एकांत में अक्सर यह सोचने की कोशिश करती हूँ कि जब इस बिंदु को एक नाम या पहचान मिलेगी तो क्या महसूस होगा। बस इसी सोच विचार में वक़्त बीत गया और मैं अंधकार से उजाले की ओर अग्रसर हो चली।

आज मैं पूर्ण हूँ

ऐसा तो नहीं था कि अकेलेपन में तन्हा थी, पर ना जाने क्यों अपनापन बेहतर लग रहा है। मुझे देखकर लोगों के चेहरे पर मंद मंद मुस्कान, आँखों में चमक और आवाज़ में मिठास महसूस होती है, मानो कोई कुदरत का खेल हो। एक उम्मीद सी जगी है। एक यकीन सा हुआ है। शून्य अकेला हो तो उसका मान शून्य ही रहता है लेकिन एक लग जाने से उसकी कीमत ज़्यादा हो जाती है। बस यूं मान लीजिए कि उज्ज्वल भविष्य की आस में मैं फिर आगे बढ़ चली थी।

आज मैं तलाश में हूँ

यूँ तो ज़िंदगी किसी गाने के बोल जैसी, या किताबों के पन्नों में लिखी हुई, या सिनेमा की नायिका जैसी चल रही है। कुछ अनोखा नहीं हुआ न ही कुछ अद्भुत। कभी ऐसा लगता है जैसे सबकी ज़िंदगी की कहानी लगभग एक जैसी है। सब अपनी ज़िंदगी में किसी खोज में हैं। सब भाग दौड़ कर रहे हैं ताकि बाद में शांति से रह सकें। कल की सोच में डूबे ये भोले लोग यह नहीं समझते कि आज का दिन भी तो है जीने के लिए। टप टप टप टप।

जो इस वास्तविक जीवन को जीने के लिए वास्तविकता ही में नज़रें नीची रखते हैं। मैं भी इसी भीड़ का हिस्सा बन गयी हूँ। एक तलाश है। अपने अस्तित्व की। अपने आप की। अपने ख्वाबों की। अपने सच की। अपने झूठ की। एक तलाश है अपनी। तलाश है उन सभी की जो समाज के उचित अनुचित के तराजू से परे हों, सही गलत की बंदिशों से आज़ाद हों।

आज मैं क्या हूँ

ऐसा तो नहीं कि अकेलेपन में तन्हा हूँ, आजकल तो भीड़ में भी तन्हाई ढूंढ ही लेती है। और जब तन्हाई से जान पहचान हो गयी तो अकेले वक़्त मिल ही जाता है। यूँ तो खयालों का जाल सा रहता है मन में कि एक बात सोचूँ तो किसी और ख़याल से उलझ जाता है और इसी तरह मैं सीधी रेखाओं को गोलाकार कर देती हूँ। ख़ैर इधर उधर की बात करते करते मैं एक सवाल पूछना भूल गयी।

आज मैं क्या हूँ?
क्या जहाँ से शुरुआत की थी वहीं हूँ मैं?
क्या आज भी शून्य हूँ मैं?

 © अपूर्वा बोरा

Leave a Reply