तू

Photo by Cathal Mac an Bheatha on Unsplash

तू
एक ख़याल से
शुरू होता है
मेरे मन में
फ़िर आंखों में
सैलाब बन
उतर जाता है
होठों तक
जहां एक
मुस्कुराहट की
ओट में धीरे
धीरे विचर
जाता है मेरे
ह्रदय तक
चहुँ ओर पाता
है बस प्रेम भरे
पत्र और फ़िर
निकल पड़ता है
दक्षिण दिशा की
तऱफ जहां मेरे
पेट में तितलियां
उड़ने लगती हैं
और बस
एक ख़याल
से शुरू हो
पूरे बदन में
तरंग की तरह
उमड़ जाता है
तू

© अपूर्वा बोरा​

Leave a Reply