वो नहीं

कि गुमराह वो नहीं
जिनके गलत रास्ते हैं
गुमराह वो सही
जो राह भटक जाते हैं

कि गुमनाम वो नहीं
जिसे गैरों ने भुला दिया है
गुमनाम वो सही
जो अपनों से ठुकरा दिया गया है

कि मदहोश वो नहीं
जिनका नशा शराब में हैं
मदहोश वो सही
जो जीते अपने ख़्वाब में हैं

कि फिरदौस वो नहीं
जहाँ खिले गुलिस्तान हैं
फ़िरदौस वो सही
जो मोहब्बत पर कुर्बान हैं।

 © अपूर्वा बोरा

Leave a Reply

Close Menu