युद्ध

Photo by Eric Ward on Unsplash

उसके सब्र की
परीक्षा मत लो
वह न जाने कैसे
संभल रही है
घर से निकलने से
लेकर लौटने तक
न जाने कितने
युद्ध लड़ रही है

अंदर एक
समंदर लिए
वह रोज़ाना
घर से निकल
रही है
अंदर खामोश
बवंडर लिए
वह रोज़ाना
घर लौट
रही है

उसके सब्र की
परीक्षा मत लो
वह न जाने कैसे
संभल रही है
घर से निकलने से
लेकर लौटने तक
न जाने कितने
युद्ध लड़ रही है

अंदर एक
लौ जलाए
वह रोज़ाना
घर से निकल
रही है
अंदर क्रोध की
मशाल जलाए
वह रोज़ाना
घर लौट
रही है

उसके सब्र की
परीक्षा मत लो
वह न जाने कैसे
संभल रही है
घर से निकलने से
लेकर लौटने तक
न जाने कितने
युद्ध लड़ रही है

अंदर एक
सैलाब दबाये
वह रोज़ाना
घर से निकल
रही है
अंदर हज़ारों
ख़्वाब दबाये
वह रोज़ाना
घर लौट
रही है

उसके सब्र की
परीक्षा मत लो
वह न जाने कैसे
संभल रही है
घर से निकलने से
लेकर लौटने तक
न जाने कितने
युद्ध लड़ रही है

 © अपूर्वा बोरा

Leave a Reply